वादा करके निभाना भूल जाते हैं,
लगा कर आग फिर वो बुझाना भूल जाते हैं,
ऐसी आदत हो गयी है अब तो सनम की,
रुलाते तो हैं मगर मनाना भूल जाते हैं।

Vaada Karke Nibhana Bhool Jate Hain,
Laga Kar Aag Fir Wo Bujhana Bhool Jate Hain,
Aisi Aadat Ho Gayi Hai Ab To Sanam Ki,
Rulate To Hain Magar Manana Bhool Jate Hain.