Ye Zaroori Nahin Hai Ki Har Baat Par Tum Mera Kaha Mano,
Dahleej Par Rakh Di Hai Chahat Aur Ab Aage Tum Jaano.

ये ज़रूरी नहीं है की हर बात पर तुम मेरा कहा मानो,
दहलीज पर रख दी है चाहत और अब आगे तुम जानो।