Chahat Itni Rakho Ki Jee Sabhal Jaye, Ab
Is Kadar Bhi Na Chaaho Ki Dam Nikal Jaaye.

चाहत इतनी रखो की जी सभल जाए ,

अब इस कदर भी ना चाहो कि दम निकल जाये।