​खयालों में ​उसके मैंने बिता दी ज़िंदगी सारी,
​​इबादत कर नहीं पाया खुदा नाराज़ मत होना​।
Khayalon Mein Uske Maine Bita Di Zindagi Saari,
Ibaadat Kar Nahi Paya Khuda Naraaj Mat Hona.