उसने मोहब्बत, मोहब्बत से ज्यादा की है,
हम ने मोहब्बत उस से भी ज्यादा की है,
अब वो किसे कहेगा मोहब्बत की इन्तेहां,
हमने शुरुआत ही इन्तेहां से ज्यादा की है।

Uss Ne Mohabbat, Mohabbat Se Jyada Ki Hai,
Hum Ne Mohabbat Uss Se Bhi Jyada Ki Hai,
Ab Wo Kise Kahega Mohabbat Ki Intehaan,
Humne Shuruat Hi Intehaan Se Jyada Ki Hai.