बड़ी अजीब सी बंदिश है उसकी मोहब्बत में,
न वो खुद क़ैद कर सके न हम आज़ाद हो सके।
Badi Ajeeb Si Bandish Hai Uski Mohabbat Mein,
Na Wo Khud Qaid Kar Sake Na Hum Azaad Ho Sake.